BEST STORY FOR KIDS-शरारती बन्दर (भाग-2)

Review of:

Reviewed by:
Rating:
5
On January 18, 2017
Last modified:February 12, 2017

Summary:

 

जंगल से निकाले जाने के बाद चुलबुल बन्दर खूब रोया. वह जिस जंगल में जाता वह से भगा दिया जाता. इस तरह 5 दिन बीत गए. 5 दिन में उसे कही खाने को नहीं मिला. वह भूख से छटपटा रहा था. तभी उसे कुछ दूर पर फल गिरे हुए दिखा. उसने न कुछ सोच, न कुछ समझा उस फल पर झपट पड़ा.

BEST  STORY KIDS  – चुलबुल का मुसीबत

BEST  STORY KIDS

 

जैसे ही चुलबुल बन्दर उस पर झपटा मारा. वह एक गड्डे में गिर गया. मगर उसको तो जोर से भूख लगी थी तो उसने पहले वह पड़ा फल खाया. जब भूख शांत हुआ तो देखा गड्डा बड़ा ही अंदर तक था और उसके पैर फस चुके थे. उसने खूब निकलने का प्रयास किया, खूब चीखा, मगर जंगल में उसे सुनने वाला कोई नहीं था.

कुछ देर बाद कुछ लोग आये और उसे जाल सहित बहार निकला. उनको देखकर चुलबुल चौक गया. ये कैसा जानवर है ये तो दो पैर पर खड़े है. इसके पहले तो ऐसा जानवर नहीं देखा. वह उनको देखर डर गया. उसने तो कभी इन्सान देखा ही नहीं था. वह तो हमेशा जानवरों के चारो पैर पर चलते हुए देखा था. उसने दो पैर पर चलते देखा तो डर गया और चुप हो गया.

कुछ देर बाद वो लोग उसे बांध कर एक गाड़ी में डाल दिया. गाड़ी में अँधेरा-अँधेरा था उसे कुछ भी नहीं दिखाई दिया की उसे कहा ले जा रहे है.

 BEST  STORY KIDS  – चुलबुल को मदारी वाले ले जाते है.

BEST  STORY KIDS

 

 

 

कुछ देर बास जब उसे बहार निकला गया तो देखकर चौक गया. ये कहा आ गये. ये तो जंगल है नहीं. यहाँ तो बड़े-बड़े मकान है. फिर उसने देखा वह पर और भी बहुत सारे बन्दर है. उनके पैर बंधे थे. उसने देखा तो उन बंदरो के शरीर लाल-पीले चमक रहे थे. वह उनको ध्यान से देखा उन्होंने शायद कुछ पहना हुआ था. उनमे कोई डांस कर रहे थे तो किसी को कोई मार कर डांस सिखा रहा था.

चुलबुल बन्दर को ले जाकर एक room में बंद कर दिया गया. उसके पैर एक लोहे के जंजीर से बांध दिया. फिर एक आदमी आया और कुछ सुखी हुई रोटी उसके पास रख दिया.

A STORY FOR KIDS – शरारती बन्दर

रोटी देखकर चुलबुल और जोर-जोर से रोने लगा. कहा वह जंगल में ताजे-ताजे फल खता था. जब जो फल खाने का मन करता खाते. कभी आम, कभी अमरूद और कभी जामुन. माँ कभी कुछ खिलाती कभी कुछ. जितना ही पिछली बाते सोचता उतना ही जोर-जोर से रोता. मगर वह उसे चुप करने वाला कोई नहीं था. फिर रोते-रोते वही पर सो गया.

 

फिर क्या हुआ चुलबुल के साथ. जल्द में भाग में पढ़िए.

सम्बंधित story

A STORY FOR KIDS – शरारती बन्दर

, , ,

Post navigation

One thought on “BEST STORY FOR KIDS-शरारती बन्दर (भाग-2)

  1. My best friend when I was little (age four to about ten) happened to be a boy, and we had wedding plans. We were going to get married at Excalibur in Vegas, because then we could have swords (or something – it’s all a little hazy now).He was Jewish, and I was raised in an atsosht/agneitic household. So I don’t think it’s a Mormon thing. 😉

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *