शाहरुख़ खान की जीवनी – biography of Shahrukh khan

शाहरुख़ खान

 

आज हमलोग बायोग्राफी में शाहरुख़ खान -के बारे में पढेंगे. शाहरुख़ खान, जिसे केवल भारत में ही नहीं दुनियाँ के हर कोने में लाखो फैन्स है. उनको एक्टिंग की दीवानी पूरी दुनियाँ है. उनको कोई king khan कहता है तो कोई बादशाह तो कोई रोमांस किंग. हम इन्हें कुछ भी पुकारे इतना तो जरुर है की हम इनसे बहुत कुछ सिख सकते है. तो आइये आज इनके बारे में पूरा जानते है—–

नाम  –  शाहरुख़ खान –

जन्म – 2 नवम्बर 1965, नई दिल्ली

माता का नाम – लतीफ़ फातिमा

पिता का नाम – मीर ताज मुहम्मद खान

 

शाहरुख़ खान  – प्रारम्भिक जीवन और पढाई

उनका बचपन दिल्ली की गौतम नगर में बिता. उनकी प्रारम्भिक पढाई दिल्ली के st. Columbia’s school (central Delhi) में हुआ. उनके पिता नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ ड्रामा के वेंडर का काम करते थे.  शाहरुख़ खान ने आगे की पढाई करने के लिए Delhi यूनिवर्सिटी  के हंसराज कॉलेज में इकोनॉमिक्स से एडमिशन कराया. वे अपना अधिक समय थियटर में बिताया करते थे. उस थियटर के डायरेक्टर बैरी जोंन थे. उन्ही से शाहरुख़ एक्टिंग के गुर सिखने लगे.

शाहरुख़ खान

 

हंसराज कॉलेज में अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद शाहरुख़ खान मॉस कम्युनिकेशन के लिए जामिया मिलिया मुस्लामियां यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया. मगर उन्होंने कोर्स को बिच में ही छोड़ दिया.

शाहरुख़ पर दुखो का पहाड़ तब टुटा जब उनके पिता की मृत्यु 1981 में कैंसर की वजह से हो गई. उस समय वह मात्र 16 साल के थे. 1991 में इनकी माँ भी गुजर गई और बड़ी बहन डिप्रेशन में चली गई. बाद में जब शाहरुख़ सफल हुए तो उनको यह बात हमेशा सताती की उनके माता-पिता उनके सफलता नहीं देख पाए.

उन्होंने एक्टिंग टेलीविजन से शुरू किया था. उनका पहला सीरियल दिल दरिया था. फिर उन्होंने 1988 में फौजी सीरियल में अभिमन्यु का किरदार निभाया. फौजी सीरियल DD national पर आया करता था. जहाँ से उनको पब्लिसिटी मिला. फिर एक दिन उनके पास हेमा मालिनी जी का call आया. वह उनके साथ फिल्म बनाना चाह रही थी. पहले तो इस पर शाहरुख़ को विश्वास नहीं हुआ. उनको लगा उनके साथ कोई मजाक कर रहा है. मगर ये call तो उनके किस्मत की घंटी थी.

शाहरुख़ खान

 

शाहरुख़ खान – फिल्मी कैरियर

 

शाहरुख़ खान -का फिल्मी कैरियर 1992 से शुरू हुआ. 1992 में उनकी और ऋषि कपूर की फिल्म दीवाना ने धूम मचा दिया. इनको इस फिल्म के लिए डेब्यू फिल्म फेयर अवार्ड मिला. फिर इनकी लगातार फिल्मे आती गई और hit होती गई. 1993 में इनकी दो फिल्मो ने इनको बुलंदियों पर पंहुचा दिया. पहली  डर जिसका डायलाग आज भी लोगो को याद है. दूसरी बाजीगर जिसमे वह नेगेटिव रोल में थे. “हार कर बजी जितने वाले को बाजीगर कहते है.” और इस फिल्म से उन्होंने अपनी बाजी पलट दिया. फिर लगातार सुपरहिट  फिल्मे दी और कभी पीछे मुद कर नहीं देखा.

शाहरुख़  खान – की hit फिल्मे –

दीवाना, डर, बाजीगर, कुछ-कुछ होता है, दिल तो पागल है, अंजाम, देवदास, मोहबते, अशोका, मैं हूँ ना, कल हो न हो, स्वदेश,

शाहरुख़ खान

 

शाहरुख़ खान – की love story

 

शाहरुख़ खान – की love story भी किसी फिल्म की love story से कम नहीं है. उनका और गौरी का love दिल्ली में ही शुरू हो चूका था. दोनों पहली बार किसी पार्टी में मिले थे. जब शाहरुख़ 19 के और गौरी 14 की थी. गौरी एक पंजाबी हिदू लड़की थी.

जब गौरी के फैमली को उनके love के बारे में पता चला तो उन्हें मुंबई अपने रिश्तेदार के यहाँ भेज दिया. जब शाहरुख़ को इस बात का पता चला तो वह गौरी को ढूढने के लिए मुंबई चल पड़े. बहुत दिन खोजने के बाद भी गौरी नहीं मिली. उनके पास के सारे पैसे भी खत्म हो चुके थे. उनके पास टिकट के भी पीसे नहीं बचे थे.

 

 

एक दिन जब शाहरुख़ बिच पर घूम रहे थे तो अचानक उन्हें गौरी मिल गई. फिर उन्होंने आगे कभी न बिछड़ने का वादा किया.

 

शाहरुख़ खान – की फैमली

शाहरुख़ खान

शाहरुख़ की फैमली में वे उनकी पत्नी और उनके दो लड़के और एक लड़की है

पहला लड़का – आर्यन

लड़की – सुहना

छोटा लड़का – अबराम

 

फिल्मो के अलावा शाहरुख़ खान -क्रिकेट में भी दिलचस्पी रखते है. वह आईपीएल की टीम कोलकाता नाइट्स राइडर्स के मालिक है.

शाहरुख़ का नाम हमेशा किसी न किसी कारणों से शुर्खियो में बना रहता है. कोई उन्हें घमंडी कहता है तो कोई उन्हें रोमांस king कहता है. कहते है जिसका जितना नाम होता है वह उतना बदनाम भी होता है. खैर कुछ भी हो उनका जीवन हमेशा दुसरो के लिए inspiration रहेगा. हम आगे बढ़ने की भूख उनसे सिख सकते है. उनके काम के प्रति प्यार और समर्पण ही उनको महान बनती है.

 

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा जरुर कमेंट करे. और share करे.

related biography:-

share on 

 

 

Post navigation

One thought on “शाहरुख़ खान की जीवनी – biography of Shahrukh khan

  1. Last a few years has been to Ibiza, so met a person there whose style of presentation is very similar to yours. But, unfortunately, that person is too far from the In2neert!&#8t30;

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *