Indian festival – रामनवमी -2017- श्रीराम का जन्मदिन

रामनवमी

रामनवमी कब मानते है    

 

चैत्र मास के शुक्ल पक्ष में नवमी तिथि को रामनवमी का विशेष पर्व मनाया जाता है. यह पर्व अंगेजी कैलेंडर के मार्च या अप्रैल के महीने में आता है.

महाशिवरात्रि (MAHASHIVRATRI)–भगवान शिव की पूजा कब और कैसे करें

रामनवमी कहाँ और कौन मानते है

 

यह हिन्दुओ का पर्व है. इस पर्व को उतर भारत, उतर पूर्व भारत और नेपाल में बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाता है. रामचन्द्र जी के जन्मभूमि अयोध्या में रामनवमी बहुत ही हषोल्लास के साथ मनाया जाता है. अयोध्या में इस दिन मेला लगता है. देश के हर राज्य से श्रदालु इस मेले में पहुँचते है.

 

रामनवमी क्यों मानते है

होली (holi) – रंगों का त्योहार – Indian festival-2017.

पुराणों के अनुसार रामनवमी के ही दिन त्रेता युग में महाराज दशरथ के घर भगवन विष्णु जी जन्म लिये. भगवान राम का जन्म दिन के 12 बजे हुआ था. जैसे ही प्रभु श्री राम हाथ में चक्र, गदा, और शंख लिए प्रकट हुए उनको देखते ही माता कौशल्या विस्मित हो गई. देवलोक भी अवध के रामजी का उत्सव को देखकर गदगद हो रहा था. देवो ने फुल बरसाए. जन्मोत्सव में देवता ऋषि, किन्नर सभी शामिल होकर आनद उठा रहे थे.

तब से ही हमलोग हर साल चैत्र के नवमी को राम जन्मोत्सव के रूप में मनाते है. रामनवमी के दिन ही गोस्वामी तुलसी दस ने रामचरितमानस की रचना प्रारंभ किया था.

रामनवमी

रामनवमी का व्रत और विधि

 

जो भी व्यक्ति रामनवमी के दिन पूरे दिन उपवास करता है और अपना मन श्री राम के भजन और कीर्तन में लगता है वह अनेक जन्मो के पापो को नष्ट कर देता है और परमपद को प्राप्त होता है.

चैत्र नवरात्रि – माँ दुर्गा की नौ रूपों की पूजा-2017- Indian festival

रामनवमी के दिन प्रातः काल उठ कर घर को साफ-सफाई करना चाहिए. उसके बाद स्नान करके व्रत का संकल्प करना चाहिए. व्रत के दिन कलश स्थपना और भगवान राम क पूजा करनी चाहिए इस दिन भगवान राम का भजन, स्मरण पाठ, दान पूण्य हवन करना चाहिए.

रामनवमी के दिन अपने अपने घरो और मंदिरों में ध्वजा और पताका लगाना चाहिए.

 

2017 में रामनवमी कब है? –

4th अप्रैल को रामनवमी का त्यौहार हो रहा है.

 

 

आपको यह पोस्ट कैसा लगा जरुर कमेंट करे. अच्छा लगा तो जरुर अपने फ्रेंड्स के साथ share करे.

 

related पोस्ट:-

 

motivation :-

share on:- 

,

Post navigation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *