love poem for her – क्या बताऊ मेरे लिए क्या हो तुम

love poem

 

क्या बताऊ क्या हो तुम,

तुम हो प्यार,

तुम ही पूजा,

तुम ही मेरा भगवान् हो,

 

जीने का सहारा हो तुम,

मरने का बहाना हो तुम,

मेरा दिल मेरा जान हो तुम,

जीने का अरमान हो तुम,

love poem

 

तुम सांसो में,

तुम ख्वाबो में,

तुम दिन में,

तुम रात में,

 

फूलो में तुम,

खुशबु में तुम,

हवाओ में तुम,

बहारो में तुम,

 

ख़ुशी में तुम,

दुखो में तुम,

हंसू तो तुम,

रोऊ तो तुम,

 

love poem  – तुम ही मेरा भगवान् हो,

 

क्या बताऊ क्या हो तुम,

तुम हो प्यार,

तुम ही पूजा,

तुम ही मेरा भगवान् हो,

 

तुम ही प्यार हो,

तुम ही अरमान हो,

तुम ही मूरत,

तुम ही भगवान् हो,

 

तुम नहीं तो मैं नहीं

तुम से ही तो यह संसार है,

 

ध्यानो में तुम हो,

किताबो में तुम हो,

देखू जहाँ भी,

उस हर एक कण में तुम हो,

love poem

 

तुम ही ईश्वर,

तुम ही अल्लाह्,

तुम ही मेरा भगवान् हो,

 

love poem  – तुम ही मेरा भगवान् हो,

 

तुम ही मेरा भगवान् हो,

तेरी बातो को तोड़ कर,

तुम हो रास्ता,

और मंजिल भी तुम हो,

 

क्या बताऊ क्या हो तुम,

तुम हो प्यार,

तुम हो पूजा

तुम ही मेरा भगवान् हो,

 

नदियों की बौछार हो तुम,

हवाओ की बहार हो तुम,

बसंत के फूलो,

हल्की मिठास हो तुम,

 

love poem  – धुप में तुम-बरसात में तुम

 

सावन तुम,

भादो तू,

पतझड़ तुम,

बहार तुम,

 

धुप में तुम,

बरसात में तुम,

दिन में तुम,

रात में तुम,

 

क्या बताऊ क्या हो तुम,

तुम हो प्यार,

तुम ही पूजा,

तुम ही मेरा भगवान् हो,

 

love poem  – तुम ही कविता, और कहानी भी हो तुम

 

सोउ तो तुम,

जागु तो तुम

चलू तो तुम

रुकू तो तुम

 

तुम अरमान ,

तुम ही ज्ञान,

तुम ही कविता

और कहानी भी हो तुम

 

 

आपको यह poem कैसा लगा जरुर कमेंट करे और अच्छा लगा तो share जरुर करे  

 

 

 

poems in hindi:-

 

 

share on –

, ,

Post navigation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *