आपका मन आपके काबू में नहीं है तो ये आर्टिकल आपके लिए है.

मानव शरीर में “मन” ही ऐसा है जो उसके बस में नहीं रहता है. और जिसके बस में उसका मन है वह परमानन्द में है. वह हर समय आनंद में है. कहा गया है की मन बड़ा चंचल होता है. ये चंचल मन शांत कैसे हो. तो आपका मन आपके काबू में नहीं है तो ये आर्टिकल आपके लिए है. आज उसी पर बात करेंगे. ये मन कैसे रुके, इसे कैसे सही रास्ते पर लाये. अगर ये रास्ते से भटक गया तो आप भी गये, “चरित्र” भी गया.तो

जानवरों के पास मन नहीं है इसलिए वो शांत है. जो चारा सुबह दिए वही शाम को दिए वही अगले दिन भी दिया. सुबह-शाम, दिन-रात वो एक ही चारा खाते है. एक ही जगह बंध कर बोर भी नहीं होते. जबकि मनुष्य में इसके उल्टा होता हैं.

सबसे पहले मन को समझे

आपका मन

 

मन की चंचलता रोकने के लिए हमे मन की सतह पर जाना होगा. ना ही हमे मन को मरना है ना ही मन की सुनना है. तो सवाल उठता है की करना क्या है. सबसे पहले समझेंगे की मन चलता कैसे है. कैसे यह काम करता है.

मन कभी तृप्त नहीं होता. मन को रोज नया चाहिए. जो BOOK आज पढ़ी वो कल नहीं पढने को मन करेगा. जो आज खाया, मन भर गया कल फिर मन नया मांग करेगा. relation में दरार आने में इसका बहुत बड़ा हाथ है. आज कल रोज “BREAK up” रो रहे है. कोई एक दुसरे से संतुष्ट नहीं है. क्यों? क्यों की उसका मन उसके बस में नहीं है. उसके मन को आज कोई और अच्छा लगा कुछ दिन बाद कोई नया पसंद आने लगा.Inspirational quotes for life-सफल होना चाहते है? यह आर्टिकल पढ़े

ये “मन” हमे भगा रहा है और हम लाचार, बेबस उसके पीछे भाग रहे है. मन कह रहा है ‘इस चीज को ले लो’ –ले लिया मन खुश हुआ. फिर मन वैसे ही हो जाता है जैसा था. अब मन को नया चीज पंसंद आ गया.motivational success stories – सफलता आपके हाथ में है

इस मन के खेल को एक छोटे सी story से समझेंगे. ————-

रवि एक कम्पनी में काम करता था. वह रोज आते जाते रस्ते में एक सुंदर सा घर देखता. चलते-चलते पीछे मुड़कर भी उसे देखता रहता. मन में सोचता हमारा भी एक ऐसा घर होता. उसकी मासिक आय तो उतनी थी नहीं की उसमें ऐसा घर आ जाये. उसका मन अब कहीं नहीं लगता और उदास रहने लगा. जितना उस घर के बारे मे सोचता उसे लगता ये घर मिल जाये उसके बाद मुझे कुछ बही चाहिए. मुझे सारी ख़ुशी मिल जायेगी. मन ही मन घर के बारे सोचता रहता. घर मिल जाय तो ये करूंगा वो करूंगा. फिर उसने एक उपाय निकला कंपनी में उसने बात कर ओवर टाइम करने लगा. अब उसे न खाने को टाइम मिलता न सोचने को. उसका हर समय काम में बीतने लगा.

 

आपका मन

 

7 साल बाद उसने कुछ पैसे इक्कठा कर लिए फिर भी घर लेने की पर्याप्त नहीं था. फिर उसने कुछ पैसे रिश्तेदारों से लिए और कुछ बैंक से लोन लिया. अंतत: उसने वह घर खरीद ही लिया.  बहुत खुश हुआ. ख़ुशी का ठिकाना नहीं था. कुछ दिन बाद घर में परेशनियाँ बढ़ने लगी. रिश्तदारों को पैसे दो, बैंक का लोन जमा करो की घर चलाओ. उसके घर मिलने की खुशी खत्म हो चुकी थी.

heart touching stories -बारिश की वो काली रात

एक दिन फिर ऐसे ही वह कुछ सोचते हुए ऑफिस जा रहा था. अचानक उसके आगे से एक चमचमाती हुई कार निकली. उसके पीछी मुड़ा और “क्या कार है यार.” अब उसका मन घर मिलने की ख़ुशी में नहीं था. अब उसका मन उस कार के पीछे भाग रहा था.

ये हाल केवल रवि का नहीं है सभी का ही है. सभी अपने मन का गुलाम बन के बैठे है. जैसे मन ने घुमाया उसी तरफ दौर पड़े बिना सोचे समझे की क्या सही है क्या गलत है. भाई रुको और समझो जिसके पीछे भाग रहा वो जरुरी भी या नहीं.

यहाँ कुछ उपये बाताये गए है जिसपर अमल कर मन को वश में करने में सहायता मिलेगी.

 

  1. जब तक हम बहार देखते रहेंगे ऐसे ही भागते रहेंगे. आपको जो पाना है वो आपके अंदर ही है. कुछ भी पाने की तरकीब है रुक जाना.
  2. “रुक जाना” का मतलब बाहर से रुकने का नहीं है. इन्सान अन्दर ही चलता रहता है 24 hours. कभी इस सोच में कभी उस सोच में.
  3. सबसे पहले आप दिन भर में कुछ समय निकल कर शांत बैठे. 5 या 10 मिनट के लिए. शांत और अकेला.
  4. या आप मैडिटेशन कर सकते है. दुनिया में इस से बड़ी कोई माध्यम ही नहीं है अपने मन को वश में रखने का. अपने इच्छाओं पर काबू करने का. और अपने आप को जानने का.
  5. जब भी आपका मन किसी चीज का इच्छा करता है तो दिमाग को बिच में लाइए और सवाल पूछिए क्या ये जरुरी है ? इसके करने से कही कोई दिक्कत तो नहीं है? इस चीज को खरीदने के लिए कही कोई कर्ज तो नहीं हो रहा.
  6. रात में सोने से पहले पुरे दिन जो किये है उसे एक बार याद कीजिए. जो आप गलत किये होंगे वो खुद आपको समझ में आ जाएगा. आपको खुद लगेगा ऐसा नहीं करना था. और अगली बार से खुद सुधार हो जाएगा.

इन बातो को जीवन में उतारे और जीवन का आनंद ले. मन का गुलाम बनकर नहीं मन का मालिक बनकर. आप जैसे कहगे वैसे ही ये मन चलेगा.

 

 

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा गरूर कमेंट करे और फ्रेंड्स में share करे. आपके पास  भी ऐसी story है तो हमे भेजिए हमलोग उसे website पर publish करेंगे. 

 

सम्बन्धित पोस्ट:-

motivational success stories – सफलता आपके हाथ में है

 

Motivational thoughts for life – सफलता की राह खुद तय करें

 

Inspirational quotes for life-सफल होना चाहते है? यह आर्टिकल पढ़े

,

Post navigation

One thought on “आपका मन आपके काबू में नहीं है तो ये आर्टिकल आपके लिए है.

  1. Oh goodness – what a flight! I would have switched seats if it had been me (I’m a firm believer in karma). I’m a wreck when I travel and don’t settle until I’m at my detoinasitn. It does take away from the excitement of getting there, but I hate the unsettled feeling and it is very hard for me to relax until everything (including me) is in its place.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *