my first love story – मेरा पहला-पहला प्यार

 

 

my first love story

हमलोग ground में क्रिकेट खेल रहे थे. मैं अभी बैठा था. बैटिंग आनी बाकि थी. तभी मेरी नजर एक लड़की पर पड़ी. वह दूध लेने जा रही थी. मैंने उसे पहली बार देखा था. शायद मुहल्ले में नई आई थी. मैं उसे काफी देर तक देखता रहा. जब वह जाने लगी तो मैंने अपने दोस्त से पूछा.

“कौन है यह लड़की? पहले कभी नहीं देखा इसे.” very sad love story in Hindi – प्यार में दगा दिया मैंने.

“हाँ ये लोग नये आये है यहाँ. अभी कुछ दिन हुआ है.” उसने जवाब दिया.

 

my first love story – मैं दूर से ही उसे देखता था 

my first love story

हमलोग जहाँ खेलते थे वहाँ से उसके आने-जाने का रास्ता साफ़-साफ़ दीखता था. अब मेरा यह रोज का रूटीन हो गया. मैं सबसे पहले ground में आ जाता. अगर उसके आने के टाइम हमलोग फ़ील्डिंग कर रहे होते तो मैं वही फ़ील्डिंग करता जहाँ से वह आते-जाते दिख जाती. उसे देखने में कई बार फ़ील्डिंग भी मिस हो जाती. ध्यान तो उसके आने में लगा रहा. अब आ रही है- अब आ रही. इधर यह ध्यान रखना पड़ता की कही बॉल नही मिस हो जाये. Moral story in hindi -एक कहानी जो आपकी जीवन बदल देगी.

इसी तरह दिन बीतने लगें. उसने मुझे अभी तक नहीं देखा था. क्यों की वह आती ही थी उस समय जब मैं खेल रहा होता. खेल खत्म होने तक वह चली जाती. मैं अब शाम होने का इतंजार करता. पूरा दिन ध्यान घडी पर ही लगा रहता. खेल से प्यार थी ही उसमे अब और प्यार बढ़ गया.

एक दिन मैंने दोस्त को सारा बात बताया. हमलोग ने निर्णय निकला की आज क्रिकेट खलने नहीं जाना है. जब वह आएगी तो उस रास्ते ही दुसरे तरफ जाना है. हमारे क्रिकेट ground से उसका रास्ता 100 मीटर दूर होगा.

my first love story

my first love story – पहली बार करीब से देखा 

 

मैंने घडी देखा. उसके आने का समय हो गया. मैंने दोस्त को बोला और फिर चल पड़े. जिधर से आती थी. हमलोग  धीरे-धीरे जा रहे थे ताकि रास्ता खत्म न हो जाये और वह मिले भी नहीं. Super sad true love story – कहानी एक धोखेबाज़ लड़की की.

कुछ देर बाद ही वह आती हुई दिखाई दी. मेरा दिल जोर से धडकने लगा. मेरे पैर नहीं बढ़ रहे थे. मैंने अपना सर झुका लिया. अब वह समीप आ गई थी. मैंने हिम्मत करके सर उठाया और उसकी तरफ देखा. वह मेरे बगल से गुजर रही थी. वह भी मुझे देखी. जैसी ही मैंने देखा की वह देख रही है मैंने अपना सर निचे कर लिया. धड़कन और तेज धडकने लगा. मैंने आज उसे उतने करीब से देखा था. बहुत ही खुबसूरत थी.

हमरा अब रोज का रही रूटीन हो गया. खेलने जाने के लिए अब उसी रास्ते जाते से जाते. और एक बार दोनों जरुर एक-दुसरे को देखते. ऐसा ही चलता रहा. मगर कभी हिम्मत नहीं हुआ की उस से कुछ बोल सकूँ. जैसे ही वह करीब आती मेरा धड़कन तेज हो जाता और दिमाग बंद हो जाता.

 

my first love story  – वह हमेशा के लिए चली गई 

my first love story

काफी दिन हो गये. वह दिखाई नहीं दी. मैं रोज शाम को इसी उम्मीद सी जाता शायद आज दिख जाये. मगर नहीं दिखी. मेरा मन अब खेल में नहीं लगता. पूरा समय उसके आने वाले रास्ते को देखते रहता. अंत में निराशा हाथ लगती. उस रास्ते पर मैं बार-बार जाता. कभी पहले तो कभी बाद में. यह सोच कर की समय बदल लिया हो. मगर वह नहीं मिली.

फिर एक दिन पता चला उसके पापा के तबीयत ख़राब होने से उसके घरवाले कही और चले गये. हमारा प्यार शुरू होने से पहले ही खत्म हो गया था. अब भी मैं खेलने जाता हूँ तो मेरी नजरे वही टिकी रहती है. शायद कभी आती हुई दिख जाये.

 

आपको यह story कैसा लगा जरुर कमेंट करे. आपके पास भी story है तो हमें भेजिए. हमलोग उसे publish करेंगे.

 

 

related love story :-

 

 

motivation :-

 

, ,

Post navigation

2 thoughts on “my first love story – मेरा पहला-पहला प्यार

  1. hallo joanna, schönes giveaway in tollen Herbstfarben!Am besten hat mir der Koffer- anhänger "fly me to the monq&nuot;gefalleo.Liebe Grüße Heike aus hessen

  2. Hindi Love Story: Wo date main kabhi nahi bhul sakta

    dear frndz this is my love story……
    m pyar waghra par bhut believe kart a tha
    har kisi ki tarha mera bhi ek dream girl thi ….. m jaipur me rehta hu… hum jis ghar m i mean jb se yha aaye the to humare said wale ghar mai ek ldki rehti thi…
    wo mujhe notice kiya kati thi…
    Me bhi usse notice kiya krta tha…
    but us time mujhe ye s samjh m hi nhi aya… ki mere sath kbhi kuch esa bhi hoga…

    wo muhje jb notice kiya karti thi mujhe tb muje accha lgta tha nd us par bhot gussa ata tha bt mujhe pta nhi tha she likes me..
    thde time bad me mene usko ek love latter likha ki me aap se frndship krna chata hu nd u…? Kuch der bad unhone yes bol diya…
    Us ke bad wo chli gi ab 5 years bd me aai h or hmne shaddi krli h hm bhut jyada khush h
    Thanks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *