Indian festival Vishu – विशु का त्यौहार

  Vishu  –  कब मनाते है – यह मलयालम महीने के मेष की पहली तिथि को मनाया जाता है. यह अंगेजी कैलेंडर में अप्रैल महीने में होता है. Vishu –  कहाँ और कौन मनाता है – विशु केरलवासियों का प्रमुख…

Life failure – असफलता का भय

Life failure जीवन के कितने ही महत्वपूर्ण क्षण इन्सान भय से खो देता है. उसे भय रहता है अपनी गरीबी का, जो पोजीशन में उसे खोने का, जो धन है उसे खोने का. जो प्यार है उसे खोने का. इस…

Family story – कहानी एक बूढ़े माँ-बाप की

Family story   “तुम चिंता मत करो. कल सुबह होती ही खाने का कुछ-न-कुछ उपाए करता हूँ.” 80 वर्षीय नन्हू खाट पर लेटे-लेटे पत्नी को बोल रहा था –“मैं अभी जिन्दा हूँ और जब तक जिन्दा रहूँगा तुमको किसी चीज…

How to live happy – क्या आप ख़ुशी ढूंढ रहे है?– 2

  live happy  – इसके पहले भाग में मैंने ख़ुशी कैसे मिलेगी इस का चर्चा किया था. अब इस भाग में आपको एक कहानी सुनाता हूँ जो की एक लड़के की कहानी है. जो समझता है की उसकी ख़ुशी उस…

Ganga Aarti – श्री गंगा जी की आरती

Ganga Aarti – श्री गंगा जी की आरती   ओम जय गंगे माता, श्री जय गंगे माता I जो नर तुझको ध्याता, मनवांछित फल पाता IIओमII चन्द्र सी जोत तुम्हारी, जल निर्मल आता I शरण पड़े जो तेरी, सो नर…

kali mata ki aarti – आरती श्री काली जी की

kali mata ki aarti – आरती श्री काली जी की   अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली, तेरे ही गुण गाये भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती II माता तेरे भक्त जनो पर भीड़ पड़ी है…

Santoshi Mata Aarti-आरती जय संतोषी माँ की

Santoshi Mata Aarti-आरती जय संतोषी माँ की   मैं तो आरती उतारू रे संतोषी माता की जय जय संतोषी माता जय जय माँ बड़ी ममता है बड़ा प्यार, माँ के आखो में बड़ी करुणा माया दुलार, माँ की आँखों में…

how to live happy – क्या आप ख़ुशी ढूंढ रहे है?

live happy इस दुनियाँ के हर सिंसन की बस एक ही चाहत है खुश रहना. इस ख़ुशी के लिए वह क्या से क्या कर रहा है. कोई पैसा इकठ्ठा कर रहा है पैसा आने का माध्यम सही है या गलत…

Real life love story – हमारी अधूरी प्रेम कहानी

Real life love story     दिल की बात दिल में ही रह जाती है. बस एक डर की वजह से ‘अगर वो गलत समझ ली तो क्या होगा?’ हमारी दोस्ती भी खत्म हो जाएगी. इस एक डर की वजह…

Gudi Padwa Indian Festival – गुड़ी पड़वा का त्यौहार

Gudi Padwa  Gudi Padwa – कब मनाते है? चैत्र मास के शुक्ल पक्ष के प्रतिपदा के दिन गुड़ी पड़वा का त्यौहार मनाते है. इस वर्ष प्रतिपदा या युगादि भी कहा जाता है. गुड़ी का अर्थ ‘विजय पताका’ होता है. ‘युग’…

Posts navigation