real love story – जियेंगे तो साथ में – मरेंगे तो साथ में

real love story

यह story एक ऐसे लड़के-लड़की की है जिनका प्यार एक मिशाल है. आज के दुनिया के लिए. ऐसी lover के लिए जो रोज ही अपना प्यार बदलते है. जो आज किसी के साथ तो कल किसी और के साथ. मैं यही कहुगी प्यार हो तो उनके जैसा. सभी को प्यार चाहिए मगर प्यार देना कोई नहीं जानता.

यह story है मेरी दोस्त प्रिया का. मैं और प्रिया बहुत ही अच्छी दोस्त थी. हर बात एक दुसरे के साथ share करते थे. मैं अपना हर बात उसे बताती और वह भी अपना हर बात मुझे बताती. हमारे पड़ोस में ही एक राहुल नाम का लड़का था. वह भी हमे जनता था. हमारे घर आता और हमसे अच्छी दोस्ती भी थी. प्रिया, राहुल से प्यार करती थी, राहुल भी प्रिया को बहुत चाहता था मगर ये न राहुल को पता था और न ही प्रिया को. दोनों अपने दिल में एक दुसरे से प्यार करते थे. मगर उनका जुबां हमेशा बंद रहा.

real love story

real love story – दोनों एक दुसरे से love करते थे 

एक दिन राहुल ने मुझे बताया “प्रिया से बहुत प्यार करता हूँ मगर कुछ भी कहने में डर लगता है.” वह इतना डरता था की अपना कसम दे दिया की किसी को बताएगी नहीं. अगर कोई जान गया और फिर कोई प्रिया से जा कर बोल देगा तो प्रिया क्या सोचेगी मेरे बारे में. मुझे तो गलत समझ लेगी वह. मैं भी उसे कसम खाकर विश्वास दिलाई की किसी से कुछ नहीं बताउंगी.

काफी दिन बित गये. इसी बिच मेरा बर्थडे आ गया. मैंने राहुल को बताया की आज मैं एक छोटी सी पार्टी रखूंगी. उस पार्टी में प्रिया भी आएगी तो तू उसे प्रोपोज कर देना. मैं भी तेरे साथ रहूंगी. वह तैयार हो गया और प्रिया को देने के लिए रिंग खरीदने चला गया. शाम हो गया था अभी तक राहुल आया नहीं था. तो मम्मी बोली मैं राहुल को लेकर आती हूँ. मम्मी भी राहुल और प्रिया के love के बारे में जानती थी.

मम्मी भी चाहती थी की दोनों मिल जाये. इसलिए खुद ही राहुल को बुलाने चली गई. और कुछ देर बाद ही दोनों आपस आ गये. राहुल के हाथ में एक चमचमाती हुई रिंग थी. वह काफी खुश दिखाई दे रहा था. जैसे उसका कोई सपना पूरा होने वाला हो. उसके चहरे की चमक बता रही थी, की कितनी खास है ‘प्रिया’.

Ajay Devgan biography – अजय देवगन की जीवनी

real love story – हमलोग उसका wait करते रहे 

 

हम सभी प्रिया का wait करने लगे. आज वह लेट भी बहुत कर दी थी. वैसे तो दिन भर मेरे घर में घुमती रहती थी और आज ही वह लेट कर रही थी जैसे उसे पता हो की सभी उसका wait कर रहे है. काफी समय हो गया. प्रिया अभी तक नहीं आई. call करने पर कोई receive नहीं कर रहा था. बहुत देर हो गया अब भी सब बेसब्री से उसका wait कर रहे थे. मैं तो उसके बिना केक काट ही नहीं सकती थी.

तभी अचानक घर के टेलीफोन का रिंग बजा. प्रिया की माँ थी. वो हाफ रही थी, उनकी आवाज में बेचैनी थी, वह रोये जा रही थी. क्या-क्या बोली कुछ समझ में नहीं आ रहा था बस इतना समझ में आया की “प्रिया हॉस्पिटल में है” सभी घबडा गये. दिमाग में दस बाते आने लगी. केक वैसे का वैसे छोड़ सभी हॉस्पिटल के लिए भागे. सभी के चहरे पर एक उदास प्रश्न था ‘क्या हुआ अचानक प्रिया को?”

 

real love story – उसे कैंसर था

अक्षय कुमार की जीवनी  – Biography of Akshay kumar

कुछ ही देर बाद हमलोग हॉस्पिटल में थे. प्रिया की माँ गेट पर ही हमारा wait कर रही थी. उनका रो-रो कर बुरा हाल हो गया था. फिर उन्होंने बताया की प्रिया ब्लड कैंसर है. यह सुनते ही राहुल फफक-फफक कर रोने लगा. उसका बहुत बुरा हाल गो गया. मैं उसे सम्भाली और संत्वना दी. कुछ देर बाद हमे प्रिया से मिलने दिया गया. उसे देखते ही मेरे आँखों आसू आ गये. प्रिया भी भीगी आखो से देख रही थी.

“राहुल नहीं आया?” बेड पर सोई हुई प्रिया ने पूछा

“आया है, बाहर ही है. बहुत ही बुरा हाल हो रखा है उसका.” मैं न चाहते हुए सब कुछ उसे बता दिया – “वह तुमसे बहुत प्यार करता है. और आज तुझे प्रपोज भी करने वाला था.”

उसकी आखो से आसू की धारा निकलने लगी “मैं भी उसे बहुत प्यार करती हूँ. मैं भी उसके बिना नहीं रह सकती. क्या मैं कभी ठिक नहीं होउगी? मैं उसके साथ जीना चाहती हूँ. उसके साथ रहना चाहती हूँ.” वह बोलते बोलते रोने लगे. उसकी बाते सुनकर मेरा भी गला फुट पड़ा. और जोर जोर से रोने लगे. कैसी किस्मत है, सामने प्यार है, कोई जिन्दगी भर साथ देने को तैयार है मगर ये जिन्दगी साथ देने को तैयार नहीं. जितना ही जीने का चाह है उतना ही मौत के मुँह में है.

sad love story in Hindi – प्यार में दगा दिया मैंने.

real love story – दोनों एक साथ मौत में गोद में चले गये

real love story

कुछ दिन बाद प्रिया को दुसरे शहर में इलाज के लिए ले गया. इस बिच अब राहुल मेरे घर आना जाना छोड़ दिया. अब वह कही नहीं आता जाता, घर में बैठा रहता. कुछ दिन बाद हमलोग प्रिया से मिलने वहाँ गये. हमलोग के साथ राहुल भी था. प्रिया से मिलने के लिए पहले राहुल ही अंदर गया. हमलोग बहार ही wait करने लगी. राहुल को अंदर गये अब काफी समय हो गया था. अंदर से कोई आवाज भी नहीं आ रहा था. सभी राहुल को बहार निकलने का wait करने लगे.

कुछ देर बाद नर्स प्रिया को दवा देने के लिए अंदर गई. अंदर जाते ही वह चीख पड़ी. चीखने की आवाज सुनकर अभी दौड़ कर अंदर गये. अचानक सभी चीखने लगे. प्रिया और राहुल दोनों ने अपना नस काट लिया था. डॉक्टर ने बचाने का काफी प्रयास किया. तब तक काफी देर हो चूका था. उनके पास में ही कुछ लिखा हुआ एक पेज पड़ा था. जिसमे लिखा था – “हम दोनों एक दुसरे के बिना नहीं रह सकते और अपनी जिन्दगी किसी और के साथ नहीं बिता सकते. हम जब भी रहेंगे एक-दुसरे के लिए रहेंगे. जियेंगे तो साथ में – मरेंगे तो साथ में.

 

 

आपको यह story आपको कैसा लगा जरुर कमेंट करे. आपके पास भी ऐसी story है तो हमे भेजिए. हमलोग उसे publish करेंगे.  

 

related love stories:0-

share on 

, , ,

Post navigation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *